मुफ़्त विदेशी मुद्रा रणनीति

बिटकॉइन किस देश की करेंसी है?

बिटकॉइन किस देश की करेंसी है?
देश, दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, टेक & ऑटो, क्रिकेट और राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के बिटकॉइन किस देश की करेंसी है? लिए डाउनलोड करिए

Colorful Milestones of Indian Roads : अलग-अलग रंगों से रंगे होते हैं सड़कों पर लगे माइलस्टोन, कारण जानें

बिटकॉइन को भारत में करेंसी का दर्जा मिलेगा? सरकार ने जवाब दे दिया है

क्या भारत में बिटकॉइन को बतौर करेंसी मान्यता दी जाएगी? नहीं. केंद्र सरकार ने इससे इन्कार कर दिया है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार 29 नवंबर को लोकसभा में बिटकॉइन को मान्यता देने से जुड़ी अटकलों को खत्म कर दिया. उन्होंने लोकसभा में ये साफ किया कि बिटकॉइन को करेंसी के रूप में मान्यता देने की सरकार की कोई योजना नहीं है. लोकसभा का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से शुरू हो चुका है. इस सत्र में सरकार देश में बिटकॉइन (Bitcoin) पर लगाम कसने के लिए बिल लाने जा रही है.

वित्त मंत्री का ये बयान ऐसे वक्त में आया है, जब देश में बतौर डिजिटिल करेंसी बिटकॉइन और बाकी सभी क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrencies) के भविष्य को लेकर कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं. इंडिया टुडे के मुताबिक लोकसभा में दो बिटकॉइन किस देश की करेंसी है? सांसदों ने वित्त मंत्री से क्रिप्टोकरेंसी को लेकर सवाल पूछा. दोनों सांसद जानना चाह रहे थे कि क्या सरकार के पास बिटकॉइन के ट्रांजैक्शन से जुड़ी कोई जानकारी है. इसके जवाब में सीतारमण ने कहा, 'नो सर'. वहीं क्रिप्टोकरंसी पर अगला सवाल पूछा गया कि क्या इसे देश में आधिकारिक पहचान देने के लिए सरकार कोई योजना बना रही है. इस पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि सरकार बिटकॉइन किस देश की करेंसी है? कि ऐसी कोई योजना नहीं है. इंडिया टुडे के मुताबिक सरकार ये बिल इसलिए ला रही है ताकि निजी क्रिप्टोकरेंसीज पर प्रतिबंध लग सके और आरबीआई द्वारा शुरू की जा रही डिजिटल मुद्रा के लिए मंच तैयार हो.

बिटकॉइन का मालिक कौन है – Bitcoin Ka Malik Kaun Hai

bitcoin ka malik kaun hai

देखिये बिटकॉइन का मालिक कौन है और बिटकॉइन कौन से देश की करेंसी है यदि आप Bitcoin से जुड़ी सारी जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो इस लेख को ध्यान से पढ़े क्योंकि यहाँ मैंने कम शब्दों में पूरी जानकारी देने की कोशिश की है.

बिटकॉइन का मालिक कौन है

Bitcoin के मालिक Satoshi Nakamoto है जो जापान के रहने वाले है इन्होंने इसकी शुरुआत 9 जनवरी 2009 को एक डिजिटल करेंसी बिटकॉइन के रूप में की थी. इनका जन्म 5 अप्रैल 1975 को जापान में हुआ था इसका सिंबल ₿ है और इसे BTC के नाम से भी पुकारा जाता है. आज बिटकॉइन को लगभग पूरी दुनिया जानती है क्योंकि इसमें काफी लोग इन्वेस्ट करते है और अच्छे खासे पैसे भी कमाते है.

यह एक Peer to Peer एन्क्रिप्टेड बिटकॉइन किस देश की करेंसी है? डिजिटल करेंसी है जिसे काफी सिक्योर माना जाता है. Bitcoin एक ना देखा जा सकता है और ना ही छुआ जा सकता है इसे सिर्फ डिजिटल वॉलेट में पैसों की तरह रखा जा सकता है और इसे ऑनलाइन खरीददारी कर सकते है. इसका डॉलर की तरह हर दिन रेट घटता बढ़ता रहता है और वैसे बिटकॉइन का कोई मालिक नहीं है क्योंकि यह एक ओपन सोर्च करेंसी है इसका अविष्कार करने वाले या ऑथर Satoshi Nakamoto है लेकिन एक्चुअल में कोई ओनर नहीं है.

Bitcoin in hindi – जानिए बिटकॉइन क्या है?

आज के समय में बिटकॉइन सबसे पॉपुलर क्रिप्टो करेंसी है जब भी किसी क्रिप्टो करेंसी का नाम आता है तो बिटकॉइन का नाम जरूर आता है क्योंकि क्रिप्टो करेंसी में बिटकॉइन को सबसे अधिक किसी क्रिप्टो करेंसी का नाम आता है तो बिटकॉइन का नाम जरूर आता है क्योंकि क्रिप्टो करेंसी में बिटकॉइन को सबसे अधिक मान्यता मिल रही है। क्योंकि इस समय क्रिप्टो करेंसी में बिटकॉइन की सबसे ज्यादा कीमत है और अधिकतर व्यक्ति इस करेंसी में ही इन्वेस्ट करना पसंद कर रहा है।

बिटकॉइन एक प्रकार की डिजिटल मुद्रा है जिस का भौतिक स्वरूप व्यक्ति के पास उपस्थित नहीं है। बिटकॉइन को व्यक्ति भौतिक रूप से देख नहीं सकता है और ना ही इसे छू सकता है इसे ऑनलाइन रूप से देखा जा सकता है। बिटकॉइन को 2010 में जापान के एक व्यक्ति Satoshi Nakamoto ने बनाया था। लेकिन बिटकॉइन जापान की करेंसी नहीं है। बिटकॉइन को भी ब्लॉकचेन पर बनाया बिटकॉइन किस देश की करेंसी है? गया है। बिटकॉइन आज के समय में सबसे बड़े ग्लोबल करेंसी बन चुकी है।
2021 में 1 बिटकॉइन की वैल्यू 5000000 रुपए से ऊपर है।

बिटकॉइन कैसे बनता है – Bitcoin kaise banta hai?

जिस प्रकार भारत में रुपए छापने की लिमिट है उसी प्रकार बिटकॉइन को मार्केट में लाने के लिए भी एक लिमिट रखी गई है। बिटकॉइन को बनाने में एक लिमिट का प्रयोग होता है। दुनिया में 22 लाख से ज्यादा बिटकॉइन मार्केट में उपस्थित नहीं हो सकते हैं। अभी तक पूरी दुनिया में 13 लाख बिटकॉइन ही उपस्थित हैं।

बिटकॉइन को ऑनलाइन रूप से बनाया जाता है जिस प्रकार ऑफलाइन रूप से इंडियन करेंसी को बनाते हैं। बिटकॉइन में भी ब्लॉकचेन का प्रयोग करते हैं बाद में इसे ऑनलाइन सिस्टम में अपलोड किया जाता है।

बिटकॉइन के फायदे – Bitcoin ke Fayde?

बिटकॉइन क्रिप्टो करेंसी के बहुत सारे फायदे देखने के लिए मिल रहे हैं जैसे:-

  • बिटकॉइन क्रिप्टो करेंसी ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी पर आधारित होने के कारण सुरक्षित मानी जाती है और यहां पर डाटा कोई चोरी भी नहीं कर सकता है।
  • बिटकॉइन एक ऐसी ऐसी कैरेंसी है जिसके कारण भ्रष्टाचार कम हो सकता है।
  • बिटकॉइन से बिटकॉइन किस देश की करेंसी है? अंतरराष्ट्रीय व्यापार में सरलता आई है।
  • बिटकॉइन क्रिप्टो करेंसी की आने से दो देश को अपनी करेंसी को बदलने की आवश्यकता नहीं है।
  • बिटकॉइन क्रिप्टो करेंसी का प्रयोग किसी भी देश में आसानी से किया जा सकता है।
  • बिटकॉइन का एक फायदा यह भी है बिना बैंक के लेनदेन किया जा सकता है।

बिटकॉइन के नुकसान बिटकॉइन किस देश की करेंसी है? क्या है?

बिटकॉइन के बहुत ज्यादा नुकसान भी देखने के लिए मिल रहे हैं जो इस प्रकार है:-

GK Questions: बिटकॉइन मुद्रा क्या है और कैसे काम करती है? यहां जानें जीके के ऐसे ही सवाल और उनके जवाब

General Knowledge Questions

GK Questions: बिटकॉइन किस देश की करेंसी है? कॉम्पिटिटिव एग्जाम की तैयारी कर रहे सभी स्टूडेंट्स यह बात जानते हैं कि किसी भी कॉम्पिटिटिव एग्जाम या इंटरव्यू में कहीं से भी सवाल पूछे जा सकते हैं. यूपीएससी परीक्षा (UPSC Exam) दुनिया के सबसे कठिन एग्जाम में से एक है. इस एग्जाम में सफलता के लिए उम्मीदवारों को कई सालों तक मेहनत करनी पड.ती है. अगर आप भी यूपीएससी की तैयारी कर रहे हैं या ऐसे किसी अन्य कॉम्पिटिटिव एग्जाम की तो इन जीके क्वेशन-आसंर को जरूर याद कर लें.

1. भारत पर सिकंदर के आक्रमण के परिणाम क्या थे?
भारत और यूनान के बीच अलग-अलग क्षेत्रों में प्रत्यक्ष संपर्क की स्थापना हुई. राय चौधरी के अनुसार सिकंदर के आक्रमण से भारत की छोटी-छोटी रियासतें खत्म हो गई थीं.

Colorful Milestones of Indian Roads : अलग-अलग रंगों से रंगे होते हैं सड़कों पर लगे माइलस्टोन, कारण जानें

9. क्या आप जानते हैं चंद्रगुप्त मौर्य के पुत्र का नाम?
बिन्दुसार चन्द्रगुप्त मौर्य का पुत्र था. ऐसा माना जाता है कि बिन्दुसार की जीवनी के सन्दर्भ में जैन व बौद्ध ग्रंथों में अधिक वर्णन नहीं किया गया है.

10. दुनिया में सबसे अधिक सैलरी देने वाले देशों के नाम क्या हैं?
दुनिया में यह टॉप 5 देशहैं, जो सबसे हाई सैलरी देते हैं- लक्ज़मबर्ग, डेनमार्क, नीदरलैंड, ऑस्ट्रिया औरअमेरिका.

बिटकॉइन की चुनौती और डिजिटल करेंसी

बिटकॉइन की चुनौती और डिजिटल करेंसी

भारतीय रिजर्व बैंक डिजिटल करेंसी जारी बिटकॉइन किस देश की करेंसी है? करने पर विचार कर रहा है। डिजिटल करेंसी हमारे नोट की तरह ही होती है। अंतर यह होता है कि यह कागज पर छपा नोट नहीं होता है बल्कि यह एक नंबर मात्र होता है जिसे आप अपने मोबाइल अथवा कम्प्यूटर पर संभाल कर रख सकते हैं। उस नंबर को किसी के साथ साझा करते ही उस नंबर में निहित रकम सहज ही दूसरे व्यक्ति के पास पहुंच जाती है। जैसे आप अपनी जेब से नोट निकाल कर दूसरे को देते हैं बिटकॉइन किस देश की करेंसी है? उसी प्रकार आप अपने मोबाइल से एक नंबर निकाल कर दूसरे को दे कर अपना पेमेंट कर सकते हैं।

डिजिटल करेंसी के पीछे क्रिप्टो करेंसी का जोर है। बिटकॉइन किस देश की करेंसी है? क्रिप्टो करेंसी का इजाद बैंकों के नियंत्रण से बाहर एक मुद्रा बनाने की चाहत को लेकर हुआ था। कुछ कंप्यूटर इंजीनियरों ने मिलकर एक कठिन पहेली बनाई और उस पहेली को उनमें से जिसने पहले हल कर लिया उसे इनाम स्वरूप बिटकॉइन किस देश की करेंसी है? एक क्रिप्टो करेंसी अथवा बिटकॉइन या एथेरियम दे दिया। उस बिटकॉइन के निर्माण का खेलने वाले सभी ने अनुमोदन कर दिया कि यह नंबर फलां व्यक्ति को दिया जाएगा। इसी प्रकार नये बिटकॉइन बनते गए और इनका बाजार में प्रचलन होने लगा।

रेटिंग: 4.43
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 366
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *