ट्रेडिंग प्लेटफ़ॉर्म

निवेश योजना

निवेश योजना
यहन विवरणिका भारतीय राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन से आशा निवेश योजना है। इसमें आशाओं के लिए ईएसबी योजना लाभ की रूपरेखा तैयार की गई है।

निवेश योजना

Children’s Day: इस बाल दिवस इन तीन निवेश योजनाओं से करें अपने बच्चों का भविष्य सुरक्षित

नई दिल्ली: आज कल के समय में बढ़ती महंगाई और अनिश्चितताओं ने बच्चों के भविष्य को सुरक्षित करने की अभिभावक जिम्मेदारीऔर बढ़ा दी है। इससे पहले कि आप अपने परिवार के लिए एक योजना तैयार करें, शिक्षा से लेकर जीवन यापन की लागत तक शादी जैसे मील के पत्थर तक का लेखा-जोखा रखने की जरूरत है।अगर मुद्रास्फीती की बा करे तो, शिक्षा में मुद्रास्फीति की दर में काफी देखी गई है और वर्तमान में यह लगभग 11-12% है, इसके और भी ऊपर जाने की उम्मीद है। अगर हम MBA कोर्स की बात करें तो अभी एक अच्छे कॉलेज से इसकी कीमत लगभग 30 लाख रुपये है। इसलिए एक अच्छे निवेश योजना के बारे में सोचें।

यह कुछ योजनाएं जिसके ऊपर आप विचार कर सकते हैं

यूनिट लिंक्ड इंश्योरेंस प्लान (यूलिप)

आप यूलिप में निवेश करने पर विचार कर सकते हैं जो निवेश सह बीमा योजना है जो यह सुनिश्चित करती है कि आपके बच्चे को सही उम्र में वांछित राशि मिले। बाजार की स्थितियों को ध्यान में रखते हुए यूलिप की वापसी की औसत दर लगभग 12-15%है। इन योजनाओं का एक बड़ा लाभ यह है कि वे प्रीमियम विकल्प की छूट प्रदान करते हैं जिसके माध्यम से बीमाकर्ता माता-पिता के दुर्भाग्यपूर्ण निधन के मामले में प्रीमियम का भुगतान करना जारी रखता है।

गारंटीड रिटर्न प्लान

गारंटीड रिटर्न प्लान निवेश सह बचत प्लान हैं जो बाजार के जोखिम से बचते हुए एक निर्धारित अवधि के बाद गारंटीड रिटर्न का वादा करते हैं। पारंपरिक गारंटीड रिटर्न प्लान उन ग्राहकों के लिए सबसे उपयुक्त हैं जो जोखिम से बचना चाहते हैं। वे एफडी, एनएससी और पीपीएफ जैसे पारंपरिक विकल्पों के लिए भी एक अच्छा विकल्प हैं क्योंकि नए युग की जीआर योजनाएं 7से 7.5%तक की उच्च दर की वापसी की पेशकश करती हैं जो मुद्रास्फीति को मात देने में मदद करती हैं।

साथ ही, बैंक आपको अधिकतम 10वर्षों के लिए FDमें अपना पैसा रखने की अनुमति देते हैं, जबकि गारंटीड रिटर्न प्लान आपको 45वर्षों तक अपना पैसा लॉक करने की अनुमति देते हैं। नतीजतन, अगर आप FDमें निवेश करते हैं, तो आपको पुनर्निवेश जोखिम उठाना होगा। FDपर मिलने वाले ब्याज पर टैक्स लगता है जबकि गारंटीड रिटर्न प्लान पर मिलने वाले ब्याज पर टैक्स नहीं लगता है। नतीजतन, आप उच्च रिटर्न से लाभान्वित हो सकते हैं जो गैर-कर योग्य हैं। गारंटीशुदा वापसी योजनाओं में जीवन बीमा भी शामिल होता है, जो लाभार्थियों को तब मिलता है जब पॉलिसीधारक का निधन हो जाता है। अन्य पारंपरिक योजनाओं में यह विकल्प नहीं है।

चाइल्ड कैपिटल गारंटी सॉल्यूशन

ये यूनिट लिंक्ड और गारंटीड रिटर्न प्लान का एक संयोजन है। इन योजनाओं में, निवेश की गई राशि का 50-60% गारंटीड रिटर्न वाले हिस्से में जाता है जबकि शेष राशि यूलिप घटक में जाती है। पारंपरिक गारंटी घटक पर रिटर्न की 100% गारंटी है। आपको यूलिप घटक से भी बाजार में उछाल मिलता है। तो, इन योजनाओं का लाभ यह है कि आपको दोनों दुनिया के सर्वश्रेष्ठ मिलते हैं। उदाहरण के लिए, 10 साल के लिए प्रति माह 10,000 रुपये पूंजी गारंटी समाधान का निवेश करके, आपको पॉलिसी समाप्त होने पर 20 साल बाद परिपक्वता राशि के रूप में लगभग 90 लाख रुपये मिलेंगे। इस परिपक्वता राशि का 50-60% 100% गारंटीकृत है क्योंकि यह गारंटीड रिटर्न घटक से होगा।

आशा निवेश योजना

यहन विवरणिका भारतीय राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन से आशा निवेश योजना है। इसमें आशाओं के लिए ईएसबी योजना लाभ की रूपरेखा तैयार की गई है।

हाल ही में समाचार

  • TCIवैश्विक परिवार नियोजन कार्यक्रम ने पहले पांच वर्षों में दो मिलियन नए परिवार नियोजन ग्राहक जोड़े 15 नवंबर, 2022
  • निओरो स्वास्थ्य सुविधा का कार्यान्वयन जारी है TCIस्नातक स्तर की पढ़ाई के बाद भी यूनिवर्सल रेफरल हस्तक्षेप 25 अक्टूबर, 2022
  • अपने शब्दों में: डेटा का प्रभावी उपयोग कानपुर, भारत में परिवार नियोजन प्रभाव को बनाए रखने में मदद करता है 13 अक्टूबर, 2022
  • युगांडा में जिंजा सुविधा में परिवार नियोजन सेवाओं को एकीकृत करने से रेफरल में सुधार होता है 28 सितंबर, 2022
  • TCIराजनीतिक प्रतिबद्धता के साथ-साथ ओसौए, सेनेगल की कोचिंग सीपीआर को बढ़ाती है 27 सितंबर, 2022
  • प्रयागराज मास्टर कोच संस्थान की मासिक बैठकों, नियमित डेटा समीक्षा को बनाए रखने में मदद करता है TCIका असर 19 सितंबर, 2022
  • TCI कोचिंग गोम्बे राज्य, नाइजीरिया में बेहतर परिवार नियोजन कार्यक्रम की ओर जाता है 16 सितंबर, 2022
  • एक TCI-प्रशिक्षित कोच को पोर्ट बौएट के आबिदजान कम्यून में परिवार नियोजन को चैंपियन बनाने के लिए सम्मानित किया जाता है 1 सितंबर, 2022
  • नवीनतम से अधिकारी TCI बिहार राज्य दो से सीखें TCI मॉडल सिटी - लखनऊ और आगरा 31 अगस्त, 2022
  • विहिगा काउंटी, केन्या में परिवार नियोजन सेवाओं में सुधार, किशोर गर्भावस्था दर पर प्रभाव डालने के लिए 5 अगस्त, 2022

जाओ TCIयू ऐप

को TCI विश्वविद्यालय app व्यावहारिक कैसे मार्गदर्शन और अभ्यास के एक ऑनलाइन समुदाय है, जो ज्ञान विनिमय और देश और क्षेत्रीय चिकित्सकों के बीच साझा समर्थन करता है का उपयोग करने के साथ सिद्ध हस्तक्षेप को लागू करने पर उपकरण शामिल हैं ।

Post Office में निवेश करने के कौन-कौन से विकल्प हैं, किसमें मिलेगा आपको सबसे ज्यादा पैसा

Post Office Investment, Post Office Small Saving Schemes

Post Office में निवेश के कई सुरक्षित विकल्प होते हैं

पोस्ट ऑफिस के कुछ निवेश में बैंक से भी ज्यादा ब्याज दिया जाता है

पोस्ट ऑफिस में पैसे डबल करने की भी योजना है

पोस्ट ऑफिस (Post Office) में केवल पत्र, रजिस्ट्री, स्पीड पोस्ट (Speed post) का ही काम नहीं होता है. बल्कि ये एक बैंक की तरह भी काम करता हैं. जिसमें आम लोग पैसे सुरक्षित कर सकते हैं. यही नहीं पोस्ट ऑफिस में निवेश (Post Office Investment) भी किया जा सकता है. सबसे अच्छी बात ये है कि ये किसी भी Investment में सबसे सुरक्षित होता है क्योंकि, इसे सरकार का 100 प्रतिशत संरक्षण प्राप्त होता है. इस वजह से पोस्ट ऑफिस में निवेश करना सबसे सुरक्षित होता है और आपके पैसे किसी भी हाल में डूबते नहीं हैं.

पोस्ट ऑफिस में ऐसे निवेश के साधन हैं जो बैंक से भी ज्यादा ब्याज (Interest) देते हैं. यानी आप बैंक में जो सामान्य निवेश करते निवेश योजना हैं उसमें पोस्ट ऑफिस का ब्याज उससे ज्यादा होता है. यानी आपके निवेश को सुरक्षा के साथ अच्छा ब्याज भी मिलता है. पोस्ट ऑफि में करने वाले निवेश को Small Saving scheme के नाम से जाना जाता है. आपको ये भी बता दें सरकार हर तिमाही पोस्ट ऑफिस के स्मॉल सेविंग योजना के ब्याज में समीक्षा के बाद बदलाव करती है.

यहां कर सकते हैं पोस्ट ऑफिस में निवेश

1. पोस्ट ऑफिस बचत खाता (Post Office Savings Account)

पोस्ट ऑफिस के सेविंग अकाउंट में 4 प्रतिशत का सालाना ब्याज दिया जाता है. जहां ज्यादातर बैंक सेविंग अकाउंट पर 4 प्रतिशत से कम ही ब्याज देते हैं वहीं पोस्ट ऑफिस के सेविंग अकाउंट में 4 प्रतिशत का ब्याज मिलता है. इस अकाउंट को कम से कम 500 रुपये से खोला जा सकता है. वहीं, इसमें ज्वाइंट अकाउंट की भी सुविधा दी जाती है.इस अकाउंट में पैसे रखने की कोई लिमिट नहीं है.

2. आवर्ती जमा खाता (Recurring Deposit Account)

पोस्ट ऑफिस का आवर्ती जमा खाता (Recurring Deposit Account) यानी RD निवेश का अच्छा साधन है. इस अकाउंट पर 5.8 प्रतिशत का ब्याज दिया जाता है. आपको बता दें ये योजना पांच सालों के लिए होती है जिसमें आप हर महीने कम से कम 100 रुपये की निश्चित राशि से निवेश कर सकते हैं. पांच साल में जब अकाउंट की मैच्यूरिटी होती है तो आपको ब्याज समेत एक मूश्त पैसे मिलते हैं

3. सावधि जमा खाता ( Time Deposit Account)

सावधि जमा खाता यानी कि TD Account ये एक तरह का FD अकाउंट होता है. इसमें आप 1 साल, 2 साल, 3 साल और 5 साल के लिए पैसे निवेश कर सकते हैं. इसमें 1 साल के लिए 5.5 प्रतिशत, 2 साल के लिए 5.7 प्रतिशत, 3 साल के लिए 5.8 प्रतिशत और 5 साल के लिए 6.7 प्रतिशत ब्याज दिया जाता है. इस अकाउंट में कम से कम 1000 रुपये का निवेश किया जा सकता है. ज्यादा की कोई लिमिट नहीं है. इसे भी ज्वाइंट के रूप में खोला जा सकता है. इसमें निवेश किये गए पैसे को आप मैच्यूरिटी से पहले निकाल सकते हैं लेकिन इसके लिए कुछ शर्ते दी जाती है. आपको ये भी बता दें, इसमें निवेश की गई राशि 80C के तहत इनकम टैक्स बचत में फायदा भी मिलता है.

4. मासिक आय खाता (Monthly Income Account)

मासिक आय खाता यानी MIS Account काफी फायदेमंद होती है. इसमें निवेश की गई राशि पर आपको ब्याज का पैसा हर महीने दिया जाता है. MIS योजना में 6.7 प्रतिशत वार्षिक ब्याज दर है. जबकि आपको ब्याज हर महीने आपके के सेविंग अकाउंट में देय होता है. इसमें कम से कम आप 1000 रुपये तक निवेश कर सकते हैं. हालांकि, इसमें 4.5 लाख रुपये तक निवेश किया जा सकता है. हालांकि, ज्वाइंट अकाउंट करवाएं तो 9 लाख रुपये तक निवेश कर सकते हैं.

5. वरिष्ठ नागरिक बचत योजना खाता (Senior Citizens Savings Scheme Account)

वरिष्ठ नागरिक बचत योजना खाता यानी SCSS ये अकाउंट केवल सीनियर सिटीजन लोगों के लिए होता निवेश योजना है. इसका मतलब ये है कि जिनकी आयु 60 साल है वह इस अकाउंट को खोल सकते हैं. इस अकाउंट में सीनियर सिटीजन को सबसे अधिक ब्याज दिया जाता है. इसमें 7.6 प्रतिशत सालाना ब्याज दिया जाता है जो किसी भी अकाउंट में सबसे अधिक है. इस अकाउंट को केवल पति-पत्नी के साथ ज्वाइंट अकाउंट किय जा सकता है. इसमें एक मुश्त निवेश किये जाते हैं. जिसमें कम से कम 1000 रुपये और ज्यादा से ज्यादा 15 लाख रुपये निवेश किये जा सकते हैं.

6. पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund Account)

पब्लिक प्रोविडेंट फंड यानी PPF निवेश का सबसे अच्छा साधन है. ये लंबे समय के लिए निवेश की सुरक्षित योजना है. जिन लोगों के पास EPFO की सुविधा नहीं होती है वह PPF में निवेश कर सकते हैं.इस अकाउंट पर 7.1 प्रतिशत का ब्याज दिया जाता है और उसे Yearly Compounded किया जाता है. इसमें कम से कम 500 रुपये और ज्यादा से ज्यादा 1.5 लाख रुपये तक सालाना निवेश कर सकते हैं. इस अकाउंट में आप मासिक सालाना किसी तरह से पैसे जमा कर सकते हैं. इस अकाउंट पर इनकम टैक्स छूट भी दी जाती है. पीपीएफ अकाउंट की मैच्यूरिटी 15 साल में होती है हालांकि, इसे 15 साल के बाद भी आगे बढ़ाया जा सकता है. इस अकाउंट पर लोन लेने की भी व्यवस्था होती है.

7. सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Account)

सुकन्या समृद्धि योजना (SSA) योजना सबसे बेहतर योजना है. हालांकि ये योजना बैंकों में भी होती है. लेकिन पोस्ट ऑफिस में ये योजना काफी प्रचलित है. ये बेटियों के लिए सबसे अच्छी योजना है. जो निवेश योजना लोग बेटियों की पढ़ाई और शादी के लिए चिंतित होते हैं उनके लिए ये सबसे अच्छी योजना है. ये सरकार द्वारा चलाई गई योजना है जिसके तहत बेटी के नाम पर अकाउंट खोला जाता है. इसमें कम से कम 250 रुपये से लेकर 1.5 लाख रुपये तक सालाना निवेश किया जा सकता है. 10 साल से कम उम्र के बच्चियों के लिए ये अकाउंट खोला जा सकता है. हालांकि, इसमें केवल दो बेटियों का अकाउंट खोला जा सकता है. मौजूदा समय में इस अकाउंट पर सबसे अधिक 7.6 प्रतिशत का सालाना ब्याज दर तय किया गया है. इस अकाउंट की मैच्यूरिटी 21 साल की होती है या 18 साल के बाद बेटी की शादी होती है.इस अकाउंट पर 80C के तहत टैक्स छूट भी दी जाती है.

8. किसान विकास पत्र (Kisan Vikas Patra)

किसान विकास पत्र यानी KVP पोस्ट ऑफिस की सबसे मशहूर इनवेस्टमेंट है. इसमें निवेश की गई राशि एक निश्चित समय में दोगुनी हो जाती है. किसान विकास पत्र में एक मुश्त पैसे निवेश करने होते हैं. इसमें कम से कम 1000 रुपये तक निवेश किया जा सकता है. मौजूदा समय में इस अकाउंट पर 7 प्रतिशत का वार्षिक ब्याज दर दिया जाता है जो चक्रवृद्धि ब्याज दर पर होता है. इसकी मैच्यूरिटी 10 साल 3 महीने यानी 123 महीने की होती है. यानी 123 महीने में आपकी राशि दोगुनी हो जाएगी. हालांकि, इसमें 80C के तहत टैक्स छूट नहीं दी जाती है. इस अकाउंट को ज्वाइंट खोला जा सकता है.

बच्चों की शिक्षा के लिए निवेश का बेहतर विकल्प है Mutual Funds, जानिए कौन सा है सही

बच्चों की शिक्षा के लिए निवेश (Investment for Education) करने जा रहे हैं। आपको अपनी जोखिम उठाने की क्षमता तथा लक्ष्य अवधि के अनुसार फंड्स का चयन करना चाहिए। म्यूचुअल फंड्‌स ( Mutual Funds)बेहतर विकल्प हो सकता है। यहां जानिए यह कैसे चुनें। तीन शीर्ष इक्विटी फंड्स का उल्लेख किया गया है जिन पर आप विचार कर सकते हैं।

Updated Nov 11, 2022 | 08:14 PM IST

Investment for Education-istock

बच्चों की शिक्षा के लिए म्यूचुअल फंड्‌स में भी निवेश कर सकते हैं।

बच्चों की शिक्षा मंहगी होती है। भारत तथा विदेश में शिक्षा की उच्च लागत के कारण परिवार की बचतों पर चोट पहुंच सकती है। कई माता-पिता अपने बच्चे की शिक्षा के लिए शिक्षा ऋण (एजुकेशन लोन) लेते हैं। लोन के अलावा, म्यूचुअल फंड (Mutual Funds) ऐसा अन्य क्षेत्र है जिस पर अपने बच्चे की शिक्षा की फंडिंग करने के लिए विचार कर सकते हैं। म्यूचुअल फंड्स में एक अच्छी निवेश योजना से आपको अपने बच्चे को सर्वश्रेष्ठ संभावित शिक्षा दिलाने के जीवन के महत्वपूर्ण लक्ष्य को प्राप्त करने में सहायता मिल सकती है। बच्चों की शिक्षा के उद्देश्य से निवेश के लिए (Investment for Education) सही म्यूचुअल फंड कैसे चुने, आइये आपको यह जानकारी देते हैं।

जब बात म्यूचुअल फंड के बारे में की जाती है, तो विविध विकल्प उपलब्ध होते हैं। लेकिन, आपको अपनी जोखिम उठाने की क्षमता तथा लक्ष्य अवधि के अनुसार फंड्स का चयन करना चाहिए। बच्चों की शिक्षा एक दीर्घकालिक लक्ष्य (15-18 वर्ष) होता है जिसके लिए आदर्श रूप से आपके बच्चे की छोटी आयु से ही प्लानिंग की शुरूआत की जानी चाहिए। इस लक्ष्य को पूरा करने के लिए इक्विटी फंड्स निवेश के लिए आदर्श विकल्प होते हैं। यहां पर उन तीन शीर्ष इक्विटी फंड्स का उल्लेख किया गया है जिन पर आप विचार कर सकते हैं।

डायवर्सिफाइड ब्लूचिप इक्विटी फंड्स

डायवर्सिफाइड ब्लूचिप इक्विटी फंड अनेक दीर्घकालिक लक्ष्यों जैसे बच्चों की शिक्षा और सेवा निवृत्ति के लिए आदर्श हो सकते हैं। इस निवेश स्कीम के अंतर्गत ऐसी कंपनियों के शेयरों में निवेश किया जाता है जो संबंधित सेक्टर्स में अग्रणी हैं, और इस प्रकार से आपको विकासशील अर्थव्यवस्था के लाभ मिल जाते हैं। किसी खास उद्योग पर फोकस करने वाली स्कीमों की तुलना में डायवर्सिफाइड फंड्स में जोखिम एलिमेंट कम होते हैं। इक्विटी स्कीमों के ऐतिहासिक परफॉर्मेंस के आधार पर, आप अपने निवेश पर लगभग 12% दीर्घकालिक सीएजीआर की उम्मीद कर सकते हैं।

फ्लेक्सीकैप इक्विटी फंड्स

जैसा कि नाम से पता लगता है, इन स्कीमों में अग्रणी लार्ज, मिड तथा स्मॉल-कैप कंपनियों में निवेश किया जाता है। मार्केट कैप साइज के अनुसार, इन फंड्स के अंतर्गत निवेश अनुपातों को एडजस्ट किया जा सकता है, और इस प्रकार आप मार्केट की स्थिति के अनुसार सर्वश्रेष्ठ संभावित रिटर्न प्राप्त कर सकते हैं। इस फंड की दीर्घकालिक सीईएजीआर 9% और अधिक की है।

बैलेंस्ड एडवेंटेज फंड्स

ये फंड हाइब्रिड म्यूचुअल फंड्स होते हैं जो जारी मार्केट दशाओं के आधार पर इक्विटी और डेट में आवंटन को परिवर्तित करने में समर्थ होते हैं। साथ ही इन्हें डायनामिक एसेट एलोकेशन फंड्स भी कहा जाता है, और इनसे दोनो एसेट श्रेणियों के सर्वश्रेष्ठ परिणाम मिलते हैं। उनके ऐतिहासिक परफॉर्मेंस को देखते हुए, आप स्कीमों की इस श्रेणी से दीर्घकालिक 8-12% की सीएजीआर की उम्मीद कर सकते हैं।

फंड्स को चुनते समय विचारणीय फैक्टर्स

उपयुक्त फंड्स को चुनते समय कुछ महत्वपूर्ण बातों को ध्यान में रखने से सहायता मिलेगी। सही फंड को चुनने में सहायता करने के लिए आइये कुछ महत्वपूर्ण पैरामीटर्स पर विचार करते हैं।

परफॉर्मेंस ट्रैक रिकार्ड:-

फंड्स को चुनते समय, कम से कम 5 वर्ष के ट्रैक रिकार्ड पर विचार करें। लेकिन, दीर्घकालिक ट्रैक रिकार्ड और भी अच्छा रहता है क्योंकि इससे निवेशकों को रिटर्न की भावी दर का अंदाजा लगाने में और पिछले मार्केट चक्रों के दौरान इसमें फेरबदल करने की योग्यता में सहायता मिलती है।

व्यय अनुपात

यह प्रशासनिक तथा प्रचालन लागतों को कवर करने के लिए फंड द्वारा निवेशकों से वसूली जाने वाली प्रतिशत-आधारित फीस है। किसी फंड का व्यय अनुपात इसके नेट रिटर्न्स को प्रभावित करता है। निम्न व्यय अनुपात से आपके पोर्टफोलियो में अधिक यूनिट्स आ सकेंगे जिससे आपके रिटर्न्स में बढ़ोतरी होगी। दीर्घकाल में, इन अतिरिक्त यूनिट्स से संबंधित कम्पाउंडिंग लाभ से आपके रिटर्न्स में महत्वपूर्ण रूप से बढ़ोतरी हो सकती है।

फंड मैनेजर की निवेश शैली

फंड के मैनेजमेंट के लिए फंड मैनेजर्स उत्तरदायी होते हैं तथा इसकी परफॉर्मेंस में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। स्कीम को चुनने से पहले, अपने फंड मैनेजर और उसकी निवेश विचार प्रक्रिया की जानकारी प्राप्त कर लें। आप मार्केट तथा उम्मीदों के संबंध में उनकी सामान्य कमेंट्री को जानने के लिए फंड हाउस की फैक्टशीट्स को भी देख सकते हैं। इंटरव्यूज़ तथा न्यूज पोर्टल्स अन्य साधन हैं जिनसे आप फंड मैनेजर के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

हर मां-बाप अपने बच्चे को हर सर्वश्रेष्ठ चीज को, विशेष रूप से शिक्षा प्रदान करने की कोशिश करते हैं। सिस्टेमैटिक निवेश योजना (एसआईपी) के माध्यम से निरन्तर निवेश करना उस सम्पदा का सृजन करने का आदर्श तरीका है जिससे शिक्षा लागतों को कवर किया जा सकता है। जैसे जैसे हर वर्ष आपकी आय बढ़ती है, अपने निवेश को भी बढ़ाने पर विचार करें। इससे आपको समय पर अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद मिलेगी, और साथ ही भावी जीवन के लक्ष्यों के लिए प्रारम्भिक बढ़त भी प्राप्त हो जाएगी।

(डिस्क्लेमर: ये लेख सिर्फ जानकारी के उद्देश्य से लिखा गया है। इसको निवेश से जुड़ी, वित्तीय या दूसरी सलाह न माना जाए)

NPS calculator: हर महीने पाना चाहते हैं 2.23 लाख रुपये का पेंशन तो ऐसे करें निवेश

NPS calculator: हर महीने पाना चाहते हैं 2.23 लाख रुपये का पेंशन तो ऐसे करें निवेश

डीएनए हिंदी: राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली (NPS) एक सरकार समर्थित निवेश योजना है जो परिपक्वता पर नियमित मासिक पेंशन प्रदान करती है. यह एक ही निवेश में डेट और इक्विटी में निवेश की पेशकश करता है. दोनों के सही अनुपात और व्यवस्थित निकासी योजना के साथ एक खाताधारक परिपक्वता पर 2.23 लाख रुपये तक शुद्ध मासिक पेंशन प्राप्त कर सकता है.

विशेषज्ञ लंबी अवधि के रिटर्न के लिए डेट-इक्विटी को 40:60 के अनुपात या 50:50 के अनुपात में रखने की सलाह देते हैं. इसके साथ एनपीएस ब्याज दर लंबी अवधि में लगभग 10 प्रतिशत प्रति वर्ष की उम्मीद की जा सकती है. इस तरह यदि कोई व्यक्ति एनपीएस खाते में प्रति माह 15,000 रुपये का निवेश करता है, तो 30 साल की उम्र में निवेश करने पर यानी 30 साल बाद वह 60 साल की उम्र के बाद 2.23 लाख रुपये मासिक पेंशन प्राप्त कर सकता है, यदि वे सिस्टेमैटिक विदड्रॉल प्लान (SWP) में भी निवेश करते हैं.

एक्सपर्ट के मुताबिक एनपीएस में एक खाताधारक को जमा निवेश योजना राशि का एक हिस्सा एकमुश्त राशि के रूप में मिलता है. निवेशकों को वार्षिकी खरीदने के लिए परिपक्वता एकमुश्त राशि का कम से कम 40 प्रतिशत उपयोग करना अनिवार्य है. खाताधारक को एनपीएस सिस्टमैटिक विदड्रॉल प्लान का विकल्प चुनना चाहिए और लंबी अवधि के लिए उस पर लगभग 8 प्रतिशत रिटर्न पाने के लिए एकमुश्त निवेश करना चाहिए.

इस प्रकार, यदि कोई व्यक्ति 40:60 के अनुपात में ऋण-इक्विटी जोखिम के साथ एनपीएस योजना में प्रति माह 15,000 रुपये का निवेश करता है. फिर 30 साल बाद राशि की मासिक पेंशन लगभग 68,380 रुपये होगी और निवेशक को परिपक्वता पर 2.05 करोड़ रुपये की एकमुश्त राशि मिलेगी. यदि खाताधारक, एनपीएस एसडब्ल्यूपी का विकल्प चुनता है और 25 वर्षों के लिए 2.05 करोड़ रुपये की एकमुश्त राशि का निवेश करता है, तो वह राशि पर कम से कम 8 प्रतिशत रिटर्न की उम्मीद कर सकता है. इसके साथ, निवेशक लगभग 1.55 लाख रुपये मासिक एसडब्ल्यूपी और 68,000 रुपये मासिक एनपीएस पेंशन प्राप्त करने में सक्षम होगा, जिससे कुल मिलाकर लगभग 2.23 लाख रुपये हो जाएंगे.

एनपीएस खाताधारकों को एक वित्तीय वर्ष में एनपीएस खाते में निवेश किए गए 1.5 लाख रुपये तक की धारा 80 सी के तहत आयकर छूट भी मिलती है. एनपीएस निवेश पर धारा 80सीसीडी (1बB) के तहत अतिरिक्त 50,000 रुपये की आयकर छूट का भी दावा किया जा सकता है.

रेटिंग: 4.59
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 701
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *